मुमिनीन इस मुबारक मीक़ात पर यह अमल करें और बरकात हासिल करें:

  • अल-मौलल अजल माज़ूनुद दावतिल ग़र्रा सैयदी व मौलाया अब्देअली भाईसाहेब सैफुद्दीन अ.अ.ब. बुधवार के दिन, सफरुल मुज़फ्फर की २८ वी रात (१४ अक्टूबर), ७ बजे (इंडियन टाइम) इमाम हसन स.अ. की शहादत की मजलिस में तशरीफ़ लाएँगे. मुमिनीन मजलिस में इस लिंक द्वारा शामिल होकर बरकात हासिल करें
  • कसीदा मुबारका “अबा मोहम्मदल हसन” की तिलावत करें (यह कसीदा वेबसाइट पर अंग्रेजी तर्जुमे और ऑडियो के साथ पेश है)
  • शेह्ज़ादी डॉ. बज़त सैफिया बाईसाहेबा ने हसन इमाम की रसा में लिसानुद दावत में लिखे मरसिये की तिलावत करें.  

सिजिल्ल लेख “अमीरुल मुमिनीन की हसन इमाम को हिदायत” पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें. शेह्ज़ादा डॉ. अज़ीज़ भाईसाहेब क़ुत्बुद्दीन ने अमीरुल मुमिनीन ने - जो अमीरुल मुमिनीन कुराने नातिक़ हैं - आपने हसन इमाम को दी हुई हिदायत की ज़िक्र की हैं.