सैयदनल मोऐयदुश शीराज़ी का इल्म के अन्दर बहुत बलन्द मकाम है. आप दाइद दोआत थे और २० वर्ष तक १८ वे इमाम मुस्तन्सिर बिल्लाह के बाबुल अबवाब थे, जिसके दौरान आपने अजब शान से हिकमत की मजालिस में इल्म की बरकात नशर फ़रमाई और इमाम के सतर में दोआत की तरफ इमाम के इल्म को पहुँचाने की तमहीद फ़रमाई.

बहुत खुशी की बात है कि “एन्साइक्लोपीडिया ऑफ इस्लाम” में याकूततो दावतिल हक्क शेहज़ादी डॉ. बज़त ताहेरा बाईसाहेबा का सैयदनल मोऐयदुश शीराज़ी के ऊपर लेख नशर हुआ. यह लेख यहाँ पेश करते है.