१२ वी रबीउल अव्वल १४४० हि मिलादुन नबी के मौके पर मिलाद की रात (सोमवार के दिन, मंगलवार की रात – १९ वी नवम्बर) दारुस सकीना मुंबई में मगरिब और इशा की नमाज़ के बाद मिलादुन नबी की ख़ुशी की मजलीस अक्द होगी इंशाअल्लाह। तमाम मुमिनीन मुमेनात और उनके फ़रज़न्दो को इस ख़ुशी के मौके पर इज़न पेश है।

इस मुबारक मौके पर मुमिनीन इस तरह अमल करे:

  • मीलादुन नबी के मुबारक मीक़ात पर (रबीउल अव्वल की १२ वी रात, २७ अक्टूबर), माज़ूनुद दावतिल ग़र्रा सैयदी व मौलाया अब्देअली भाईसाहेब सैफुद्दीन अ.अ.ब. मग़रिब और ईशा की नमाज़ बाद ६:४५ बजे (इंडियन टाइम) ख़ुशी की मजलिस में तशरीफ़ लाएँगे और रसुलुल्लाह स.अ.व. की ज़िक्र फरमाएँगे. मजलिस यूट्यूब पर रिले की जाएगी.

  • सैयदना ताहेर सैफुद्दीन रि.अ. ने तसनीफ फरमाए कसीदा मुबारका "طه النبي المصطفى خير الورى"  की मुमिनीन तिलावत करे (PDF और अंग्रेजी में तर्जुमा वेबसाईट पर है)
  • सैयदना ताहेर सैफुद्दीन रि.अ. ने तसनीफ फरमाए कसीदा मुबारका "صلى على محمد ربه"   की मुमिनीन तिलावत करे
  • उम्मुल मुमिनीन अल मुकद्दसा अमतुल्लाह आइसाहेबा अकीलत सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन रि.अ. की नियत पर खतमुल कुरआन पढ़े