अरफा के दिन अमल:

ईद उल अदहा की रात अमल:

  • मगरिब और ईशा नमाज़ सुन्नत और नाफेलत के साथ पढ़ें, और हर फ़र्ज़ के बाद तकबीरा बोले
  • २४ रकअत वाशेक की नमाज़ पढ़े (नियत के लिए यहाँ क्लिक करे)
  • सजदा वजही की दोआ और रब्बना की दोआ पढ़े
  • सैयदना ताहेर फखरुद्दीन त.उ.श. का १४३८ हि का वसीला सुने

ईद उल अदहा के दिन में अमल:

  • फजर की सुन्नत, फ़र्ज़, ताकीब की दोआ पढ़े, फ़र्ज़ के बाद तकबीरा बोले (तकबीरा ज़ोहर और असर के बाद भी पढ़े)
  • सूरज तुलु होने के बाद सिलतुल इमाम अ.स. अर्ज़ करे
  • २ रकअत ईद की नमाज़ पढ़े – जहां रज़ा हो वहां इमामत से पढ़े (नियत और नमाज़ के बारे मे पढ़ने यहाँ क्लिक करें)
    • ईद की नमाज़ का विडिओ देखने यहाँ क्लिक करें
    • जिन्हें ‘वश शम्स’ या ‘हल अताका’ की सूरते याद न हो व़े ‘इन्ना अनज़लनाहो’ और ‘वद दोहा’ की सूरत पढ़ सकते है, या ‘इन्ना अनज़लनाहो’ और ‘वत तीन’ की सूरत पढ़ सकते है
    • नमाज़ शुरू करने के पहले हफ्ती में से कुनूत की दोआ देख ले
  • एवज़ उल खुत्बतैन की नमाज़ पढ़े – दो रकअत पढ़े – इमामत से नहीं (PDF में नियत है)
  • नमाज़ बाद क़िबला तरफ खड़े हो कर इमाम अली ज़ैनुल आबेदीन की दोआ पढ़े
  • सजदा वजही और रब्बना की दोआ पढ़े
  • सैयदना ताहेर फखरुद्दीन त.उ.श. के वसीला मुबारक की रेकोर्डिंग सुने (सजदा वजही की दोआ की रेकोर्डिंग भी है)
  • सैयदना ताहेर सैफुद्दीन रि.अ. ने तसनीफ फरमाया कसीदा मुबारका 
  • “يا امام الزمان يا من اضحى” की तिलावत करे (ऑडियो रेकोर्डिंग वेबसाईट पर है)