अन्य शहरों में रहनेवाले मुमिनीन इमाम हुसैन और आप के एहले बैत और असहाब पर आई मुसीबत और उनकी सब्र और हिम्मत को याद कर इस मौके पर बरकात हांसिल करे, यह अमल करे

  • वाअज़ का लाइव रिले: आका हुसैन स.अ. के चेहलम की रात माज़ूनुद दावतिल ग़र्रा सैयदी व मौलाया अब्देअली भाईसाहेब सैफुद्दीन अ.अ.ब. वाअज़ मुबारक फरमाएँगे. वाअज़ का लाइव रिले रविवार के दिन, २६ सितम्बर रात ७ बजे (इंडिया टाइम) शुरू होगा. मुमिनीन इस यूट्यूब लिंक पर क्लिक करके वाअज़ मुबारक सुनें.  रिले के बाद वाअज़ मुबारक की रिकॉर्डिंग भी पेश की जाएगी.


जो इमाम हुसैन और आपके असहाब और एहले बैत का सब्र और आपकी हिम्मत को याद करके हम अपना हौंसला बलन्द न करें, हमारे अज़म को  मोहकम न करे  कि हम भी हक़ की हिमायत में खड़े हों, तो और कैसे करेंगे? शेह्ज़ादा डॉ. अज़ीज़ भाईसाहेब के इस पूरे लेख, आशुरा के बाद ज़ुल्मरानी  को पढने यहाँ क्लिक करें।