सैयदना ताहेर फखरुद्दीन त.उ.श. ने अशरा मुबारका १४४० हि में दारुस सकीना मुंबई में तख्ते इमामी पर जलवा अफरोज हो कर अजब शान से वाअज़ फरमाई। पंजेतन पाक अ.स. अइम्मत ताहेरीन और दोआत मुतलकीन की मारेफत करवाई, दुनिया और आखेरत की ज़िन्दगी के लिए हिदायत बख्शी। मौलानल मिनआम ने बयानों में मुमिनीन को हिक्मत के लाकीमत मोतिओं से नवाज़ा।

मौलाना त.उ.श. ने करम फरमा कर पहली तीन वाअज़ आलमे ईमान में रिले करने की रज़ा फरमाई। यह वाअज़ रबीउल अव्वल के आखिर तक देखी जा सकती है। इन्शाअल्लाह बाकी दिनों की सैयदना की वाअज़ में से भी कुछ बयानों की विडिओ यु-ट्यूब पर पेश की जाएगी।

इन बयानों में से कुछ झलक, वाअज़ की तलखीस (सारांश) में पेश करने की कोशिष की है और साथ में याकूततो दावतिल हक्क शहज़ादी डॉ. बज़त ताहेरा बाइसाहेबा की लिखी मदेह पेश की है जिस में आप ने सैयदना की वाअज़ में से कुछ ज़िकरों की तज़मीन की है।

सैयदना ने करम फरमा कर रज़ा फरमाई थी कि आप की पहली तीन वाज़ यु-ट्यूब पर रिले की जाए। इन वाअजों को दुनियाभर में हज़ारों मुमिनीन ने देखा है।