मीसाक की मजलिस

दावत की नेहेज है कि मुमिनीन अपने मीसाक की तजदीद कराएं (दोबारा मीसाक दें). सैयदना त.उ.श. ने करम और एहसान फरमाकर शेह्ज़ादा डॉ. अज़ीज़ भाईसाहेब कुत्बुद्दीन को Zoom पर मीसाक लेने की रज़ा फ़रमाई हैं. मुमिनीन सोमवार के दिन शाम ६ बजे (इंडिया टाइम) मीसाक की मजलिस में इस लिंक द्वारा शामिल हों:

मीसाक की मजलिस की अदब

मीसाक की मजलिस में मुमिनीन कौमी लिबास में हाज़िर हों और यह ज़रूरी है कि मुमिनीन अपने पूरे नाम के साथ शामिल हों और अपना वीडियो चालु रखें और कैमेरे में नज़र आएँ. वीडियो चालु नहीं होने पर उन्हें वेटिंग रूम में ठहराया जाएगा जहाँ तक वे अपना वीडियो चालु कर सकें.

जदीद मीसाक (पहला मीसाक)
जो पहला मीसाक देना चाहते हों वे इस ईमेल एड्रेस पर ईमेल करें: [email protected] या “Chat” यह शब्द इस नंबर पर वॉट्सएप करें: +917867865354 या यहाँ क्लिक करके सेंड दबाएँ