खुदा तआला कुराने मजीद में फरमाते हैं कि जिन्हें इल्म बख़्शा है उनके लिए जन्नत में दरजात हैं.

सबसे आला इल्म आले मोहम्मद का इल्म है. लेकिन यह इल्म सबसे आला क्यों है? इल्म तो इल्म है. इस इल्म का दर्जा सबसे बढ़कर क्यों?

आले मोहम्मद के इल्म में सबसे बढ़कर तौहीद का इल्म क्यों है?

मजालिसुल हिक्मत की २७ वी मजलिस में सैयदना ताहेर फखरुद्दीन त.उ.श. इन सवालों के जवाब फरमाते हैं.