हर इंसान यह चाहता है कि वह जो भी अमल करता है उसमें बेहतर बने. तो यह बेहतरी हासिल करने का रास्ता क्या है? बेहतर और अफ़ज़ल बनने में हिक्मत क्या है?

अल्लाह तआला कुराने मजीद में फरमाते हैं कि अल्लाह ने हर चीज़ को बेहतर पैदा किया और इंसान की पैदाइश मिट्टी से शुरू की.

नफ़्स फज़ल किस तरह हासिल कर सकता है? बेहतर बनने में हिक्मत क्या है? दरजात में किस तरह चढ़ें?

मजालिसुल हिक्मत की १८ वी मजलिस में सैयदना ताहेर फखरुद्दीन त.उ.श. इन सवालों के जवाब फरमाते हैं.